श्री जानकी जन्मोत्सव में सम्मिलित होने के लिए निमंत्रण पत्र दिया

 

जानकी जन्मोत्सव आयोजन के अध्यक्ष ने विश्व हिंदू परिषद सलाहकार सदस्य पुरुषोत्तम नारायण सिंह  से  जन्म उत्सव में सम्मिलित होने  निवेदन किया

अयोध्या l जिस प्रकार भगवान श्री राम की जन्मभूमि करोड़ों करोड़ों हिंदू समाज के लिए पूज्य है ठीक उसी प्रकार माता जानकी की जन्मभूमि सीतामढ़ी हिंदू समाज के लिए सम्माननीय है ।अयोध्या और सीतामढ़ी तथा जनकपुर का संबंध सामाजिक धार्मिक और सांस्कृतिक स्वरूप को मजबूती प्रदान करने वाला है ।श्री जानकी जन्मोत्सव आयोजन समिति सीतामढ़ी  के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने अयोध्या पहुंचकर कारसेवक पुरम में  वैशाख शुक्ला नवमी को श्री जानकी जन्मोत्सव में सम्मिलित होने के लिए निमंत्रण पत्र दिया।
श्री जानकी जन्मोत्सव  आयोजन समिति के अध्यक्ष आलोक कुमार के संयोजन में पहुंचे पदाधिकारियों ने विश्व हिंदू परिषद सलाहकार सदस्य पुरुषोत्तम नारायण सिंह को निमंत्रण पत्र और प्रसाद देकर जन्म उत्सव में सम्मिलित होने  निवेदन किया इस दौरान सीतामढ़ी से पहुंचे आयोजन समिति के बंधुओं को संबोधित करते हुए श्री पुरुषोत्तम नारायण सिंह ने कहा भगवान श्री राम की जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण हो यह जनकपुर और सीतामढ़ी के श्रीराम जानकी भक्त चाहते हैं।श्रीराम की जन्मभूमि की ही भांति सीतामढ़ी भी इस देश के लिए सम्माननीय है इस क्षेत्र का सांस्कृतिक और धार्मिक विकास भारत और नेपाल के पारंपरिक मैत्रीपूर्ण संबंधो को मजबूती प्रदान करेगा। उन्हो ने कहा श्री जानकी जन्मोत्सव का कार्यक्रम सीतामढ़ी धाम के एतिहासिक  परिवेश को जीवंत प्रदान करने वाला है। उन्हो ने आयोजन मे समलित होने का आह्वान किया।सीतामढ़ी से पंहुचने वाले दल मे अरुण कुमार सोहन प्रसाद संजीव कुमार अजय कुमार गोपीचंद पवन सिंह राजेश कुमार सिंह सूरज कुमार पवन सिंह उमाशंकर प्रसाद तरुण आनंद तथा कोश प्रमुख विरेंद्र कुमार श्री राम वेद विद्यालय के मंत्री राधेश्याम मिश्र शरद शर्मा उपस्थित रहे।