रामलला नेे बांके बिहारी के गुलाल से  खेली होली, पहने खादी के डिजायनर वस्त्र, भोग में लगी खास 11 तरीके की गुझिया 

प्रदेश सरकार की मंशा के अनुसार खादी बोर्ड के डिजाइनर मनीष त्रिपाठी ने रामलला के लिए होली में पहनने के लिए नए खादी के वस्त्र डिजाइन किए थे

राम भक्तों को कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए दर्शन कराया जा रहा है। लेकिन उत्सव में शामिल होने के लिए राम भक्तो को अभी कुछ समय का इंतजार करना होगा 

अयोध्या l राम जन्मभूमि परिसर में रामलला ने वृंदावन बांके बिहारी के भेजे हुए पीले रंग के गुलाल से होली खेली और खादी के सफेद नये वस्त्र को धारण किया । उत्तर प्रदेश सरकार की मंशा के अनुसार खादी बोर्ड के डिजाइनर मनीष त्रिपाठी ने रामलला के लिए होली में पहनने के लिए नए खादी के वस्त्र डिजाइन किए थे । जिसे रामलला के मुख्य पुजारी आचार्य सतेंद्र दास ने धारण कराया । रामलला ने मंदिर के पुजारियों के साथ सुबह के मंगला आरती के बाद बाके बिहारी के गुलाल से होली खेली । उंसके बाद रामलला ने चारों भाइयों के साथ खास डिजाइन किए हुए खादी का वस्त्र धारण किया । हालांकि रामलला के लिए बांके बिहारी के साथ-साथ पशुपतिनाथ,  बांग्लादेश व अन्य जगहों से भी होली खेलने के लिए गुलाल शुभकामना व पत्र भेजा गया था । आज होली के दिन भगवान श्रीराम को विशेष तरीके के पकवानों का भोग लगाया गया खासकर 11 तरीके की गुझिया से भगवान श्री राम चारों भाइयों को भोग लगाया गया । श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की मनसा है कि अयोध्या राम जन्मभूमि परिसर में जो भी तिथि वार त्यौहार हो रामलला के सामने उत्सव के रूप में मनाया जाए । उसी अनुरूप में प्रधान पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास अपने सहायक पुजारियों के साथ पर्व और त्यौहार मना रहे हैं हालांकि कोरोना संक्रमण को देखते हुए राम भक्तों को कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए दर्शन कराया जा रहा है। लेकिन उत्सव में शामिल होने के लिए राम भक्तो को अभी कुछ समय का इंतजार करना होगा ।