( BREAST CANCER ) स्तन कैंसर क्या हैं ?, जाने लक्षण व सावधानी

वैद्य आर पी पांडे,अयोध्या

आज अगर स्तन कैंसर की बात करे तो भारत और अन्य देशो में इससे मरने वालो की संख्या हर 2 -3 मिनट में एक लोगो की मौत हो जाती है CANCER एक जानलेवा बीमारी है अगर इसको समय रहते ही इलाज नहीं कराया गया तो मृत्यु हो जाती है ! इस बीमारी को रोकने के लिए सभी लोगो ने 4 FEBRUARY को वर्ल्ड कैंसर डे के रूप में मनाया जाता हैं ! अब जानते है की क्या है स्तन कैंसर एक जानलेवा बीमारी है ,हम सभी लोगो के शरीर में लाखो की संख्या की तदात में कोशिकाओं का बनना और इसके बाद इनकी मृत्यु हो जाती हैं यही क्रिया हमारे शरीर में होती रहती हैं , शरीर में इन कोशिकाओं का कोई काम नहीं होता है , अगर यही कोशिकाएं हमारे शरीर में जितने पहले बन रहे थे उससे अगर ज्यादा संख्या में बनना शुरु हो जाती है तो जो भी हम लोग खाते – पीते हैं सब इन्ही कोशिकाओं को प्राप्त होता है जो ये कोशिकाएं हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाते जो एक जानलेवा बीमारी का रूप ले लेता हैं ,उसे हम लोग कैंसर कहते हैं , ये बीमारी 19 – 50 साल के सभी वर्ग को होने की सम्भावना बढ़ जाती है , ये बीमारी आदमी को कम होती है और महिलाओ को ज्यादा होती है क्योकि महिलओं के अंदर एस्टोजन की मात्रा ज्यादा पाई जाती है जिसका कारण कैंसर होती हैं !

स्तन कैंसर के चरण क्या है ?

1. BREAST CANCER की शुरुआती दौर कोई खास पता नहीं चल पाता हैं ,की मुझे कौन सी STAGE की कैंसर हुई हैं , इसका कारण देखा जाये तो मरीज़ को कोई खास वजह समझ में नहीं आती हैं ,और लक्षण भी दिखाई नहीं देता ,अंदर से भी कुछ खास समझ में भी नहीं आता हैं ,अगर 1 – 2 दिन बीत जाने के बाद , NIPPL में जहाँ दूध की कोशिकाये होती है जहां पर ,जिन कोशिकाओं से दूध बनता हैं वहां पर एक छोटी सी गाँठ का बनना सुरु हो जाती है !

2. दूसरे स्टेज में जो गाँठ की साइज होती है वो पहले से बढ़ जाती है और अगर हम स्तन को दबाये तो दर्द महसूस होती है और साइज़ भी बढ़ी हुई महसूस होती है और हल्के – हल्क़े खुजली की अनुभूति होती है !

3. इस स्टेज में बाहरी CONDITION का भी पता होने लगता है ,जो गाँठ की साइज होती है वो पहले से और बढ़ जाती है , इसे छूने से दर्द और होने लगता है ,फिर इसके साथ – साथ ब्लड और अन्य तरल पदार्थ भी निकलते है , जैसे सिरम आदि !

4. चौथी स्टेज में पूर्ण रूप से ज्यादा पता चलता है की मुझे कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी हुई है अगर इलाज नहीं कराया गया तो ऐ कैंसर किसी और अंग को भी प्रभवित कर सकती है !
**स्तन कैंसर की जीव* रक्षा अलग – अलग दर पर !

1. प्रथम चरण 100 %

2. दूसरा स्टेज 95 %

3. तीसरा स्टेज 54 %

4. चौथा स्टेज 16 %

BREAST CANCER DAIGNOSIS ( जाँच ) की भिभिन्न प्रणाली 

1. CT SCAN .

2. MRI .

3. कोशिकाओं से तरल पदार्थ की जाँच लेकर करना !

4. CA 15. 3

5. MAMMOGROPHY !

ब्रेस्ट कैंसर के कारण क्या हैं ?

1. शरीर में आयी आनुवांशिक कारण से BREAST CANCER !

2. एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ जाना !

3. शादी का देर से होना ,मासिक का जल्दी होना और बच्चे को कम जन्म देना !

4. विकीकरण के कारण जैसे – X – RAY , MARMMOGRAPHY , रेडियो थेरेपी ,मोबाइल रेडिएशन !

5. वातावरण का सही न होना !
6. केमिकल से बने पदार्थो का इस्तेमाल करना !

7. खान -पान का सही न होना !
*ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण क्या हैं ?*
1. स्तन या कांख में गाँठ का होना कैंसर भी हो सकता हैं !

2. काँख में सूजन का होना और गांठे का बढ़ जाना !

3. स्तन में तेज दर्द का होना और इसके साथ हल्की खुजली का होना !

4. स्तन का आकर कभी बढ़ जाना और कभी मुलायम और कड़ापन होना !

5. निप्पल से तरल पदार्थ का निकलना या ब्लड का निकलना !

6. कम उम्र में मासिक का आना !

7. एस्ट्रोजन का बढ़ जाना !

8. ब्रैस्ट के पीछे वाले भाग में दर्द होना !
*स्तन कैंसर में क्या खाना चाहिए ?*

1. विटामिन D से प्राप्त होने वाले तत्वों का सेवन करना चाहिए !

2. मठा – पनीर – चीज का सेवन खाने में करना चाहिए !

3. मशरूम को तजा खाना चाहिए !

4. हल्दी के साथ कच्चा दूध का सेवन करना चाहिए !

*स्तन कैंसर के खाने में परहेज करे !*

1. मशाले युक्त का भोजन नहीं करना चाहिए !
2. माइक्रोवेब से बना भोजन या अन्य पदार्थ नहीं खाना चाहिए !

3. नॉन ऑर्गनिक फ़ूड या फ्रूट का भी सेवन नहीं करना चाहिए !

4. फैटी भोजन ज्यादा नहीं खाना चाहिए !

5. टमाटर से बना चटनी जो लम्बे समय तक रखा हो उसे नहीं खाना चाहिए !

*स्तन कैंसर में सावधानी जरूर बर्ते !*

1. BREAST CANCER में नियमित रूप से इलाज करानी चाहिए !

2. BREAST कैंसर में किसी भी यन्त्र से निकलने वाला विकिरण से बचना चाहिए !

3. खान – पान पर सावधानी बर्तनी चाहिए !

*4. स्तन कैंसर में अगर आपको लगता है की आपकी तबियत पहले से ज्यादा ख़राब है तो तुरंत डाक्टर से संपर्क करें !*

5. BREAST CANCER में तम्बाकू से बचना चाहिए !
स्तन कैंसर का घरेलु इलाज क्या है ?
1. हल्दी
हल्दी बहुत पहले से ही इसको खाने में इस्तेमाल किया जाता है हल्दी का एक गुण नहीं इसके हजारो गुण पाया जाता है , पहले के समय में और आज भी हल्दी को उपयोग में लाते है ,अगर किसी को चोट लग गई तो हल्दी को उस जगह पर लगाने से जो दर्द होता है वो ठीक हो जाता है और घाव भी ठीक हो जाता है ,हल्दी में आंटिबैक्टेरियल और कुकुर्मिन जैसी तत्व होते है ! हल्दी को अगर नियमित रूप से इसे रोगी को सुबह – शाम देने से ब्रैस्ट कैंसर को रोका जा सकता है ,हल्दी ही एक ऐसा तत्व है जो कैंसर के रोगी को देने से या आम आदमी को खाने से कैंसर को 60 % रोकता हैं और कैंसर के रोगी को भी ठीक कर देता है !
2. तुलसी में भी कई तरह के गुण पाए जाते है और कई बीमारी को भी जड़ से भी ख़त्म करने में भी बहुत उपयोगी है और इसे बहुत पहले से ही ऋषियों और बैध भी इसका सेवन प्राचीन काल के पूर्व से भी करते आ रहे है ! अगर हमें अपने कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से अगर बचना है तो मुझे तुलसी के पत्ती का सेवन खाने में करना होगा है ! रोज हमे सुबहः शाम तुलसी के 10 पत्ती को को लेकर इसे अच्छे से धूल ले फिर और इसे कच्चा ही चबा जाये और पानी पी ले ,अगर आप इसे अपने दिनचर्या में खाने लेते है तो आपका कैंसर की बीमारी को रोका जा सकता है !
3. देशी गाय के मूत्र और हल्दी और गेंदा फूल को लेकर तीनो का सयोजन करके इसे अच्छे तरह से मिला कर पेस्ट तैयार कर ले और इसे उस जगह पर लगाए जहा कैंसर की बहरी हिस्से में हो और उससे तरल पदार्थ बाहर निकलते हो , आप को उस जगह से लगाने पर जो कैंसर जैसे जानलेवा और इसके साथ अन्य घावों को भी कम किया जा सकता है ,और नियमित रूप से भी सेवन करने से इसे ठीक किया जा सकता है !
4. ग्रीन टी में भी कई तरह के गुण होते है जैसे एंटीबैक्टेरियल और विटामिन्स का भी निहित होना इसके अनेक गुण पाए जाते है , और हमारे प्रतिरोधक क्षमता को भी ठीक करता हैं आज हम लोग जानेंगे की इसका सेवन करके कैसे कैंसर और इसके साथ अन्य बीमारी को भी ख़त्म किया जा सकता है ! हमें ग्रीन टी का सेवन करने से पहले हमे कुछ बातो का ध्यान देना बहुत ही जरुरी है क्योकि अगर आप इसे नजरअंदाज किये तो फिर किसी भी बीमारी को मात देना संभव है !जब भी हम ग्रीन टी का सेवन करे तो मुझे धूम्रपान ,तम्बाकू और अन्य पदार्थ का भी सेवन नहीं करना है जो हमारे शरीर को भी नुकसान पहुँचाती हो ,तो चलिए जानते है की ग्रीन टी का सेवन कैसे करे -सबसे पहले हमें ग्रीन टी को तैयार करके पीने से पहले एक गिलास पानी जरूर पिए इससे हमारे पेट में किसी भी बीमारी का वाश नहीं होगा और न ही गैस बनेगी , ग्रीन टी को आप केवल दिन में दो बार ही इसका सेवन करना है एक तो आप इसे सुबह और दूसरा शाम को उपयोग में ला सकते है अगर आप इसका सेवन प्रतिदिन करने से आपकी सभी बीमारी से जल्दी ही निजात मिल जाएगी या ठीक हो जाएगी !
5. लहसुन का भी सेवन हम कई तरीको से करते है जैसे इसे खाने में , या किसी चीज के साथ फ्राई करके खाने में या बने हुए खाने में भी उपयोग में लाया जाता है , अब सवाल ये है की इसे हम खाने में क्यों लाते है जी हा क्यों लाते है ? तो चलिए जानते है की लहसुन की विशेषता क्या है , सबसे पहले हमारे स्वाद को बढ़ाने में उपयोग में लाया जाता है और इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी होता है जो हमारे प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा देता हैं इसके साथ ये एंटीबैक्टेरियल का भी गुण पाया जाता है जो हमारे शरीर में आयी कीटाणु को मरने में भी सक्षम होता है !अब हम लोग इसे खाने में उपयोग में कैसे लाये ? सबसे पहले हम लोग आपने दिनचर्या में खाने वाले भोजन के साथ लेते है और इसे हम अलग से भी इसका सेवन कर सकते है जैसे इसका 4 -5 फली को हम अच्छे से छिलका रहित बनाये और फिर इसे अच्छे से बारीक़ कर ले और इसे आप 5 – 10 चमच पानी लेकर इसके साथ घोल बना ले और इसे पी जाये ऐसा करने से कैंसर जैसे जानलेवा बीमारी से बचा जा सके और इसके साथ अन्य बीमारी से भी बचा जा सके !

वैद्य आर पी पांडे अनंत शिखर साकेत पुरी

अयोध्या