अवध विश्वविद्यालय में बसन्तोसव पर माॅ सरस्वती का पूजन हुआ

फाईन आर्ट्स की शिक्षिकाओं एवं छात्र-छात्राओं द्वारा ’’माँ सरस्वती पूजन कार्यक्रम’ का आयोजन किया गया

आयोजन समिति के सदस्यों पल्लवी सोनी, रीमा सिंह, सरिता सिंह, प्रो0 आशुतोष सिन्हा, प्रो0 मृदुला मिश्रा, डाॅ0 अलका श्रीवास्तव, सविता देवी, के सहयोग से चित्राँकन कार्य पूर्णता के साथ किया जा रहा है

 

अयोध्या।बसन्तोसव के अवसर पर डॉ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र एवं ग्रामीण विकास विभाग के सभागार कक्ष में फाईन आर्ट्स की शिक्षिकाओं एवं छात्र-छात्राओं द्वारा ’’माँ सरस्वती पूजन कार्यक्रम’ का आयोजन किया गया। पूजन कार्यक्रम का शुभारम्भ माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन के साथ हुआ। इसमें फाईन आर्ट्स विभाग को उत्तर प्रदेश शासन द्वारा प्रायोजित फाईन आर्ट््स समिति के अन्तर्गत चल रही ’’सात दिवसीय मूर्तिकला कार्यशाला’ मे छात्र-छात्राओं द्वारा स्वनिर्मित माँ सरस्वती की प्रतिमा को मूर्तरूप देने के उपरान्त पूजन कार्यक्रम किया गया जिसमें प्रमुख रूप से विभागीय छात्रा नितिका तिवारी, वन्दना, शिल्पी कनौजिया, के साथ बड़ी संख्या मे छात्र-छात्राओं ने अपना सहयोग प्रदान किया।

    फाईन आर्ट्स समित की सयोजिका डाॅ0 सरिता द्विवेदी ने बताया की उत्तर-प्रदेष शासन द्वारा प्रायोजित विभिन्न विशयों पर कार्यषालाओं का आयोजन किया जा रहा हैं जिसमें कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह की दिशा -निर्देशन एवं विभागीय आयोजन समिति के सदस्यों पल्लवी सोनी, रीमा सिंह, सरिता सिंह, प्रो0 आशुतोष सिन्हा, प्रो0 मृदुला मिश्रा, डाॅ0 अलका श्रीवास्तव, सविता देवी, के सहयोग से चित्राँकन कार्य पूर्णता के साथ किया जा रहा है। फाईन आर्ट्स समिति की इसी कड़ी में भरत कुण्ड में ’’शीर्षक आधारित कलात्मक पेंटिग’ से सम्बन्धित ’’आनस्पाॅट चित्रकारी प्रदर्शन’ किया जायेगा। फाईन आर्ट्स विभाग के समन्वयक प्रो0 विनोद कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि सात दिवसीय मूर्तिकला कार्यशाला में निर्मित मूर्तियों में प्रथम, द्वितीय एवम् तृतीय स्थान पाने वाली छात्राओं क्रमषः नितिका तिवारी, षिल्पी कनौजिया, वन्दना, को पुरस्कार वितरण समारोह में कुलपति जी द्वारा पुरस्कृत किया जायेगा। इस अवसर पर प्रमुख रूप से विभागीय प्रशिक्षक आषीश प्रजापति एवं गैर शैक्षणिक कर्मचारी विजय कुमार शुक्ला, शिव शंकर यादव, हीरा यादव, एवं बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित रहें।