कपिलमुनि का मंदिर सदियों से अध्यात्म और प्रकृति के संरक्षण का प्रतीक  -अमित शाह 

केंद्रीय गृह मंत्री  अमित शाह ने भारत सेवा आश्रम संघ, कोलकाता में प्रणवानंद जी को श्रृद्धासुमन अर्पित कर गुरूजनों का आशीर्वाद लिया

युगाचार्य प्रणवानंदजी ने उस समय स्वधर्म और स्वराज की कल्पना को बुलंद किया जब देश को इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी

प्रणवानंद भारत सेवाश्रम संघ ने युवाओं में राष्ट्रभक्ति, धार्मिक चेतना, आत्‍मबल, सेवा, समर्पण और त्याग के गुणों का विकास करने के लिए देशभर में अभियान चलाया, 105 वर्षों पूर्व बोया गया बीज आज वटवृक्ष बनकर सामने है

हर तीर्थ बार-बार, गंगासागर एक बार, इस प्रकार से इस तीर्थ का महिमामंडन हमारे पूर्वजों ने किया है

प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में गंगोत्री से गंगासागर तक गंगा के शुद्धिकरण का कार्यक्रम चल रहा है

मां गंगा को शुद्ध करने का, प्रदूषण मुक्त करने का कार्य पूर्ण किया जाएगा और वात्सल्य के साथ सभी बच्चों को उसके निर्मल जल का आशीर्वाद उपलब्‍ध हो सके ऐसी गंगा निर्मिति करने का कार्य किया जाएगा

प्रविष्टि तिथि: 18 FEB       by PIB Delhi

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भारत सेवा आश्रम संघकोलकाता में प्रणवानंद जी को श्रृद्धासुमन अर्पित कर गुरूजनों का आशीर्वाद लिया l इस मौके पर अपने संबोधन में श्री  शाह ने कहा कि आज का दिन अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि आज आचार्य रामकृष्ण परमहंस और चैतन्य महाप्रभु का जन्मदिन है। श्री शाह ने कहा कि मेरे लिए बहुत सौभाग्य की बात है जहां एक बड़ा लंबा समय युगाचार्य प्रणवानंदजी ने बिताया उस स्थान पर आने का मुझे सौभाग्य मिला है। युगाचार्य प्रणवानंदजी ने उस समय स्वधर्म और स्वराज की कल्पना को बुलंद किया जब देश को इसकी सबसे ज्यादा जरूरत थी। श्री शाह ने कहा कि जब विभाजन हुआ तब भी यह हिस्सा भारत के साथ जुड़ा रहे उस समय प्रणवानंद जी ने डॉ श्‍यामाप्रसाद मुखर्जी को प्रेरित किया। प्रणवानंद भारत सेवाश्रम संघ युवाओं में राष्ट्रभक्ति धार्मिक चेतना, आत्‍मबल,समर्पण और त्याग के गुणों का विकास करने के लिए देशभर में अभियान चलाया और 105 वर्षों पूर्व बोया गया बीज आज वटवृक्ष बनकर सामने है। यहां के सेवादारों ने धर्म और जाति से ऊपर उठकर सेवा की है।

श्री  शाह ने गंगासागर तीर्थ के दर्शन कर कहा कि यहां आने पर अभिभूत हूं और यहां पर कपिल मुनि का मंदिर सदियों से अध्यात्म और प्रकृति के संरक्षण का प्रतीक बना हुआ है। श्री शाह ने कहा कि इसीलिए कहते हैं कि हर तीर्थ बारबार गंगासागर एक बार इस प्रकार से इस तीर्थ का महिमामंडन हमारे पूर्वजों ने किया है। श्री शाह ने कहा कि हमारे पुराणों के अनुसार महाराज भगीरथ अपने सात हजार पूर्वजों की मुक्ति के लिए मां गंगा को हिमालय की गोद से लेकर गंगासागर तक आए और आज पुण्यसलिला गंगा हजारों साल के बाद भी पूरे भारतवर्ष के लोगों को लिए जीवनदायिनी और मुक्तिदायिनी है।

अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री  मोदी के नेतृत्व में गंगोत्री से गंगासागर तक गंगा के शुद्धिकरण का कार्यक्रम चल रहा है। आज बंगाल में गंगासागर की स्थिति अत्‍यंत दयनीय है जिसे सरकार में आने के बाद ठीक किया जाएगा और बंगाल में भी गंगासागर तक नमामि गंगे प्रोजेक्‍ट पूरा किया जा सकेगा। श्री शाह ने कहा कि मां गंगा को शुद्ध करने का प्रदूषण मुक्त करने का कार्य पूर्ण किया जाएगा और वात्सल्य के साथ सभी बच्चों को उसके निर्मल जल का आशीर्वाद उपलब्‍ध हो सके ऐसी गंगा निर्मित करने का कार्य किया जाएगा l