अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर बन रहे राम मंदिर निर्माण से सभी राम भक्तों को जोड़ने के लिए विभिन्न स्तर पर जागरूकता अभियान

अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि पर बन रहे राम मंदिर निर्माण से सभी राम भक्तों को जोड़ने के लिए विभिन्न स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के साथ मिल कर विश्व हिंदू परिषद के संगठनों कार्यकर्ता लोगों को जागरूक कर रहे हैं. राम मंदिर निर्माण में सहयोग के लिए लोग बढ़ चढ़कर सामने आ रहे है. वहीं सनातन धर्मी भी अपने स्तर पर राम मंदिर निर्माण को लेकर लोगों को जागरुक करने में पीछे नहीं हैं. पिछले 38 दिनों से युवाओं में मंदिर निर्माण में सहयोग के लिए जोश भर रही युवा जागृति यात्रा अपने लक्ष्य को पूरा कर अयोध्या पहुंची. बाइक वाहन रैली के जरिए यात्रा में शामिल युवाओं ने चित्रकूट से अयोध्या के बीच के क्षेत्र में युवाओं को रामलला के मंदिर निर्माण में सहयोग की अपील की. श्री राम जन्मभूमि पर बन रहे राम मंदिर निर्माण में सहयोग के लिए चित्रकूट से निकली युवा जागृति यात्रा का आज अयोध्या में समापन हो गया. पर्वतारोही रत्नेश पाण्डेय ने बताया कि यह यात्रा 11 जनवरी को चित्रकूट स्थित कामतानाथ मंदिर से निकली थी. यात्रा में वाहन के जरिए शामिल हुए लोगों ने राम मंदिर निर्माण के लिए युवा वर्ग को प्रेरित किया. श्री राम जन्मभूमि तीर्थ संपर्क महाभियान के तहत यात्रा निकाली गई. जिसका समाज के प्रत्येक व्यक्ति को राम मंदिर निर्माण से जोड़ने का उद्देश्य है. युवा जागृति यात्रा के साथ अयोध्या पहुंचे पर्वतारोही रत्नेश पाण्डेय का संतों ने स्वागत किया. आपको बता दें कि 21 मई 2016 को भारत भारत के सर्वोच्च शिखर माउंट एवरेस्ट पर फतह किया था. उन्होंने पहली बार माउंट एवरेस्ट पर चढ़कर राष्ट्रगान गाया और भगवा ध्वज फहराया था. मीडिया से बातचीत के दौरान रत्नेश ने कहा कि लंबे संघर्षों के बाद जब भगवान की जन्म स्थली पर भव्य मंदिर बनने जा रहा है तो समाज का हर वर्ग इसमें सहयोग कर रहा है. राम मंदिर निर्माण में हम सबका गिलहरी प्रयास सौभाग्य की बात है.

रत्नेश पाण्डेय, पर्वतारोही