प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजनान्तर्गत आरएएस के 9 आवेदन पत्रो का परीक्षण, एक आवेदक अपात्र

विभिन्न योजनाओ के कुल प्राप्त 61 आवेदन पात्र पाये गये जिसमें 16 आवेदन पत्र अपात्र है तथा 45 आवेदन पत्र पात्र पाये गये है जिनके अनुमोदन पर समिति द्वारा विचार किया गया

अयोध्या l  कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना तथा ब्लू रिवोल्यूशन इन्टीग्रेटेड डबलपमेंट एण्ड मैनेजमेंट आफ फिशरीज (नीली क्रान्ति योजना) की जिला स्तरीय स्टेयरिंग कमेटी की बैठक जिलाधिकारी  अनुज कुमार झा की अध्यक्षता में हुई।
जिलाधिकारी ने बताया कि 21 सितम्बर 2020 को हुई बैठक में अनुमोदित लाभार्थियो के अतिरिक्त पोर्टल पर प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजनान्तर्गत आरएएस के 9 आवेदन पत्रो का परीक्षण एवं स्थलीय सत्यापन किया गया जिसमें से 8 पात्र पाये गये तथा एक आवेदन पत्र अपात्र पाया गया। उन्होंने आगे बताया कि 31 दिसम्बर 2020 तक निजी भूमि पर तालाब निर्माण/उत्पादन निवेश के 21 आवेदन पत्र प्राप्त हुए जिसमें से 15 आवेदन पत्र पात्र पाये गये जबकि 06 आवेदन पत्र निरस्त करने योग्य थे। वृहद आरएएस के निर्माण योजना में 4 आवेदन पत्र में जिसमें 2 पात्र तथा 2 अपात्र पाये गये। मध्यमाकार आरएएस का निर्माण योजनान्तर्गत 3 आवेदन पत्र प्राप्त हुए सभी पात्र पाये गये। लघु आरएएस निर्माण का 1 आवेदन पत्र प्राप्त हुआ जो मानक के अनुरूप था। लघु फीड मिल (2 टन क्षमता), वृहद फीड मिल (क्षमता 20 टन) के 1-1 आवेदन पत्र प्राप्त हुए जो परीक्षण में निरस्त योग्य पाये गये जबकि मोटर साइकिल विथ आॅइस बाॅक्स के 18 आवेदन पत्र साइकिल विथ आइस बाॅक्स 01 तथा जिन्दा मछली विक्रय केन्द्र का निर्माण के 5 आवेदन पत्र प्राप्त हुए सभी पात्र पाये गये, जबकि इन्सुलेटिड रेफिजरेटर वैन को 1, फिश सीड हैचरी निर्माण के 2, शीतगृह का निर्माण 20 टन क्षमता के 01, प्रथम वर्ष तिलापिया/पंगेशियस के 1, प्रथम वर्ष निवेश मेजर कार्य के 1 आवेदन पत्र प्राप्त हुए सभी आवेदन पत्र निरस्त योग्य थे। इस प्रकार विभिन्न योजनाओ के कुल प्राप्त 61 आवेदन पात्र पाये गये जिसमें 16 आवेदन पत्र अपात्र है तथा 45 आवेदन पत्र पात्र पाये गये है जिनके अनुमोदन पर समिति द्वारा विचार किया गया।
बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि वर्ष 2020-21 में चयनित ग्राम पंचायत अंजना विकास खण्ड पूरा बाजार के मछुआ आवास (मछुआ समुदाय व अनुसूचित जाति के 26 लाभार्थियो को 31 लाख 20 हजार रूपये की धनराशि आवंटित की गई जिसमें से 28 लाख 80 हजार रूपये अनुदान की राशि सम्मिलित है। बैठक में नीली क्रान्ति योजना के विभिन्न योजनाओ पर चर्चा की गई।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी  प्रथमेश कुमार सहित समिति के सदस्य व मत्स्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।