सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में बैठक कर विकास की योजनाओं को फाइनल टच दिया

श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास ने उनके आश्रम मणिराम दास छावनी में मिलकर उनके स्वास्थ्य की जानकारी भी ली

 

अयोध्या l मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शासन के वरिष्ठ अधिकारियो के साथ अयोध्या मे विकास के कार्यो में तेजी लाने के साथ अयोध्या की सुरक्षा के सम्बन्ध में बैठक कर विकास की योजनाओं को फाइनल टच दिया। इस दौरान उन्होंने रामलला की आरती कर हनुमानगढ़ी में दर्शन किया l उन्होंने श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास ने उनके आश्रम मणिराम दास छावनी में मिलकर उनके स्वास्थ्य की जानकारी भी ली l

 

सीएम की बैठक अयोध्या के रामकथा संग्राहलय में सम्पन्न हुई। मुख्यमंत्री ने समीक्षा बैठक में अधिकारियो को निर्देश दिया कि मौजूदा परियोजना को वर्ल्ड क्लास सिटी बनाने के लिए समयबद्ध ढंग से आगे बढ़ा जाए तथा इसके लिए शासन स्तर पर  कंसलटेंसी का चयन किया जा रहा है उन कन्सलटेंसी द्वारा भी आप लोगो से विभागीय परियोजनाओ की जानकारी ली जायेगी। इस लिए उसको गुणवत्ता के साथ आगे बढ़ाने की आवश्यकता है।

अयोध्या के निर्माण में केवल निर्माण ही नही उसके वास्तु सांस्कृतिक महत्व श्रद्धालुओ को केन्द्र मानकर कार्य करना होगा। नगर विकास, विकास प्रधिकरण दोनो मिलकर शहर के साफ-सफाई, सीवर, जल निकासी, स्वच्छता, पेयजल आदि मानको को पूरा करे। अयोध्या को आकर्षण का केन्द्र बनाने के लिए धर्मशालाओ, पुराने मंदिरो को सन्तो से समन्वय कर उसके जीर्णोद्धार की कार्यवाही करने और आम श्रद्धालुओ हेतु मंदिरो में भी सुविधा बढ़ाने हेतु आवश्यक कार्य करने को कहा। अयोध्या के सुरक्षा केमानको में जो निर्णय हुआ है उसको तत्काल अमल में लाया जाये। श्री रामजन्म भूमि कन्ट्रोल रूम के लिए 12000 वर्ग मीटर जमीन की तत्काल व्यवस्था किया जाये तथा कमांडों के रहने हेतु प्रधिकरण द्वारा निर्मित आवास को तत्काल किराये पर लेकर आवश्यक कार्यवाही किया जाये।

अयोध्या के विकास में  प्रधानमंत्री  की स्पष्ट सोच व दृष्टि है उसके अनुरूप अयोध्या को विकास के नये सोपान तक पहुॅचाने की कार्यवाही की जाए जो अयोध्या के विकास में लगभग 795 दुकानो प्रभावित हो रही है। उसके लिए पुर्नस्थापाना की कार्यवाही करते हुए आवश्यक कार्यवाही किया जाये। भगवान राम के नाम पर बन रहे हवाई अड्डे को तत्काल प्रारम्भ करने हेतु केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्रालय से आवश्यक कार्यवाही कराते हुए पूरा किया जाए।

रामायण कालीन वनस्पति लगभग 88 चिन्हित किये गये है। उसमें वन एवं उद्यान विभाग बेहतर समन्वय करके 84 कोसी, 14कोसी एवं पंचकोसी मार्गो पर पौधरोपण किया जाए और विभिन्न स्थानो पर उन पौधे का उपवन एवं उद्यान भी बनाया जाए। परिक्रमा केवल परिक्रमा ही नही है श्रद्धा एवं आस्था का केन्द्र है लोगो को आम सुविधा भी दिया जाए तथा ऐसी व्यवस्था की जाए कि जो नंगे पाव चले उन्हे दिक्कत न हो जो अन्य अपने साधन से करे उन्हे भी सुविधा मिल सके। परिवहन विभाग अपने पुराने ढर्रे पर कार्य न करे। थ्री पीपी माडल या सरकारी निर्माण से एयरपोर्ट सुविधा युक्त शहर के लगभग 04 मार्गो में बस अड्डा एवं पार्किंग स्थल बनाया जाए जिससे की लोगो को जिस मार्ग से सफर करते है जैसे लखनऊ-बाराबंकी मार्ग, अम्बेडकरनगर आजमगढ़ मार्ग, सुल्तानपुर-प्रयागराज मार्ग, गोरखपुर-बस्ती-गोण्डा मार्ग को उसी मार्ग पर पार्किंग की सुविधा हो तथा पार्किंग स्थल पर आम सुविधाए बेहतर हो। संस्कृति विभाग की जमीन को परिवहन विभाग को बस अड्डा हेतु भूमि देने हेतु प्रस्ताव देने को कहा।

कुमारगंज चिकित्सालय, देवगढ़ चिकित्सालय, राजा दशरथ मेडिकल कालेज आदि की समीक्षा में पाया कि कार्यदायी संस्था को 95 प्रतिशत राशि देने के वावजूद कार्य नही किया गया है। इस संस्था के प्रबन्धक/राजकीय निर्माण निगम के एम0डी0 को निर्देश दिया कि 31 मार्च 2021 तक कार्य पूर्ण कर लिया जाए अन्यथा परियोजना प्रबन्धक एवं उनकी टीम के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर उनके वेतन से वसूली की जाए। समस्त कार्यो को टाइम बाउण्ड करने हुए गुणवत्ता के साथ पूरा करे और विभागो के प्रमुख सचिवगण इस बैठक के बाद अपने-अपने विभाग की परियोजनाओ का निरीक्षण करते हुए रिर्पोट भी प्रस्तुत करें। उर्जा विभाग की समीक्षा के दौरान कहा कि जुड़वा शहर के विद्युत तारो की अण्डर ग्राउण्ड केबिल की कार्यवाही जल्द से जल्द पूरा किया जाये।

इस पर विद्युत निगम के एमडी ने कहा कि 31 मार्च 2023 तक अण्डर ग्राउण्ड करने की योजना प्रस्तुत की जा चुकी है। 100 साल से पुराने पेड़ो को चिन्हिांकन कर हैरीटेज घोषित करने की कार्यवाही करें। मुख्यमंत्री ने अयोध्या नगर की सड़को, श्री रामजन्म भूमि के आस-पास चल रहे निर्माण कार्यों तथा 06 फलाईओवर आदि संबंधी कार्यो, शहर की पेयजल योजनाओ सीवर योजनाओ आदि को जल्द से जल्द से पूरा करने के निर्देश दिये। उत्तर रेलवे के अधिकारियो जीएम एवं डीआरएम की लखनऊ में आवश्यक बैठक कर ओवर ब्रिज के निर्माण के गतिरोध को दूर करने को कहा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सिचाई विभाग, पर्यटन विभाग, लोक निर्माण विभाग, धमार्थ कार्य विभाग, नगर विकास विभाग, आवास विभाग, स्वास्थ्य विभाग वन विभाग, उर्जा विभाग, शहरी आवास एवं शहरी नियोजन आदि लगभग 100 से ज्यादा परियोजनाए चल रही है इसकी समीक्षा की शासन के अधिकारियो को यहाॅ बुलाकर बैठक कराने का मुख्य उद्देश्य है कि मौके पर विभागीय अधिकारी अपने-अपने विभागो के कार्यों को देखे तथा उनके गतिरोध को दूर कर जल्द से जल्द से परियोजनाओ को पूर्ण कराये। इसकी सूची संलग्न है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री  के घोषणा के अनुरूप भव्य अयोध्या, दिव्य अयोध्या बनाने हेतु लगभग 12 सौ एकड़ जमीन लिया जाना है इस पर प्रमुख सचिव आवास एवं जिलाधिकारी  अनुज कुमार झा ने कहा कि लगभग 495 एकड़ जमीन धारा-28 के तहत नोटिफिकेशन किया जा चुका है इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इन स्थानो पर सभी राज्यो के गेस्ट हाउस, भारतीय संस्कृति, धार्मिक संस्थाओ के मठ मंदिर एवं गेस्ट हाउस बनाये जायेगें जो वैदिक कालीन अयोध्या एवं नव्य अयोध्या को प्रर्दशित करेंगे।
बैठक में स्थानीय संसद लल्लू सिंह ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि अयोध्या, अकबरपुर, बसखारी फोरलेन मार्ग में पड़ने वाले 04 बाजारो एवं कस्बा के लिए बाईपास मार्ग बनाया जाये। सरयू नदी पर बनने वाले बैराज को अपर स्ट्रीम पर बनाया जाये जिससे कि 365 दिन राम की पैड़ी पर पानी रहे तथा श्रद्धालुओ की संख्या को देखते हुए नये घाट भी बनाये जायें स्थानीय विधायक  वेदप्रकाश गुप्ता ने दुकानदारो के पुर्नस्थापन के मांग के साथ अयोध्या के जीर्णशीर्ण सड़को के निर्माण की बात की, मेयर ऋषिकेश उपाध्याय ने पुराने सरयू पुल पर लगी जर्जर व पुराने रेलिंग को हटाकर लखनऊ के गोमती नदी के तर्ज पर रेलिंग लगाने की बात कही। इस बैठक में रूदौली के विधायक रामचन्द्र यादव, गोसाईगंज के विधायक इन्द्र प्रताप तिवारी उर्फ खब्बू तिवारी, बीकापुर शोभा सिंह , मिल्कीपुर विधायक बाबा गोरखनाथ सहित अन्य जनप्रतिनिधियो ने अपनी-अपनी बात कही इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जनप्रतिनिधियो के सुझाव को अधिकारीगण शामिल करे और अरवश्यक हो तो समय-समय पर स्थानीय अधिकारी जनप्रतिनिधियो के साथ बैठक भी करे।
इस बैठक में शासन के मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी, अनेक विभागो के अपर मुख्य मुख्य सचिव, मुख्य सचिव, तथा अनेक विभागाध्यक्षो ने भाग लिया।
बैठक में मण्डलायुक्त एमपी अग्रवाल ने मुख्यमंत्री मुख्य सचिव सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारियो का स्वागत किया तथा अयोध्या के विकास पर संक्षिप्त चर्चा की। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने अयोध्या के विकास एवं अयोध्या को विश्व स्तर की सिटी बनाने सम्बन्धी विभिन्न योजना का विस्तार से विवरण प्रस्तुत किया इसमे मुख्य रूप से धर्माथ कार्यविभाग, लोक  निर्माण , संरक्षण निधि, विकास प्रधिकरण, गृह विभाग, सिचाई विभाग, नगर विकास विकास आदि विभाग के 100 से अधिक परियोजनाए शामिल थी इन परियोजनाओ को मुख्यमंत्री द्वारा संबंधित विभाग के प्रमुख सचिवआदि से सीधे वार्ता कर गुणवत्ता के साथ पूरा करने का निर्देश दिया।
इस बैठक में अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग, सिचाई, चिकित्सा, चिकित्सााशिक्षा, परिवहन, उर्जा, नगर विकास, आवास, वन, कार्यदायी संस्थाओ के प्रमुख, प्रबन्ध निदेशक, निदेशकगण आदि उपस्थित थे।
इसके पूर्व की बैठक में अपर पुलिस महा निदेशक एसएन सांवत, आई कानून व्यवस्था वीके सिंह, आईजी संजीव गुप्ता, मण्डलायुक्त एमपी अग्रवाल, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, पुलिस उप महानिरीक्षक/एसएसपी दीपक कुमार आदि के साथ रामजन्म भूमि सुरक्षा की भी समीक्षा की।