हनुमानगढ़ी से आरंभ हुई अयोध्या की होली, सन्तों ने पांच कोस की सीमा में खेली होली

अयोध्या l अयोध्या होली खेले रघुबीरा ,अवध में होली खेले रघुबीरा l भगवान श्रीराम के बारे में होली के ख़ास अवसर पर गाए जाने वाले उत्तर प्रदेश के इस ख़ास गीत को सुन कर अवध में खेली जाने वाली होली के स्वरूप और परम्परा का भान हो जाता है। अयोध्या में होली के कई रंग दिखते है। साधु- संतो की माने तो इस दिन वह किसी और के साथ नहीं बल्कि साक्षात् भगवान  के साथ ही होली खेलते है l

दरअसल रामनगरी अयोध्या में राममंदिर निर्माण शुरू हों गया है। इसी क्रम में अयोध्या में होली का उल्लास रंग गुलाल खेलते साधू संत करतब दिखाते साधु संत बजे गाजे की धुन झूमते मंदिरों में दिखाई दिया। आज का यह दिन रंगभरी एकादशी होता है आज से अयोध्या के मंदिरों में होली शुरू हो जाती है और होली तक पूरी अयोध्या फागुनी रंग में सराबोर हो जाती है। इस अवसर पर हनुमान गढ़ी का पवित्र निशान के साथ नागा साधू सडको पर और मंदिर -मंदिर रंग गुलाल के साथ होली खेलते हुए राम नगरी की परिक्रमा किया।हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास ने बताया कि हम लोग बसंत पंचमी से ही हनुमान जी को रोज रंग लगाना शुरु करते हैं आज रंगभरी एकादशी हैै पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाना चाहिए आज हनुमानगढ़ी के प्रतीक रूप में निशान निकला और हनुमानगढ़ी के नागा साधु पंचकोशी परिक्रमा किये साथ ही और एक विशेष महत्त्व इस के नाते और हैं.महंत राजू दास नेे बताया कि राममंदिर निर्माण वाली होली है भब्य दिब्य राममंदिर में राम जी पधारेगें इस लिए राम भक्त हनुमान जी महाराज के सामने रंगभरी एकादशी पर होली खेल कर हनुमानजी का आशीर्वाद लिया है और उनके निशान की पूजा कर शोभायात्रा निकाल कर विभिन मंदिरों की परिक्रमा करेगें और आज से ही होली की सुरुवात हो चुकी है l