जिन कार्यो को 31 मार्च तक पूरा किया जाना था उसको प्राथमिकता के आधार पर बेहतर समन्वय से पूरा करें – मंडलायुक्त

अयोध्या । मण्डलायुक्त एमपी अग्रवाल की अध्यक्षता में मण्डलीय विकास कार्यो की समीक्षा बैठक आयुक्त सभागार में की गयी। इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी एवं विभिन्न विभागों के मण्डलीय अधिकारियों ने भाग लिया।

मण्डलायुक्त ने कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष के तीन माह व्यतीत हो चुके है। कोविड के कारण अन्य कार्यो की गतिविधियां प्रभावित भी रही। सभी सम्बंधित विभागों के वार्षिक लक्ष्य प्राप्त हो गये है अपनी कार्य योजना बनाकर अपने विभाग के लक्ष्यों को पूरा करें। विगत सप्ताह मेरे द्वारा 50 लाख से अधिक लागत के निर्माण कार्यो, श्रीराम जन्मभूमि परिसर के आसपास के निर्माण कार्यो की समीक्षा की गयी थी, जिसमें स्पष्ट निर्देश दिया गया था कि जिन कार्यो में 90 प्रतिशत से ज्यादा स्वीकृतियां प्राप्त हो गयी है तथ उन कार्यो को 31 मार्च 2021 तक पूरा किया जाना था उसको प्राथमिकता के आधार पर संबंधित विभाग, कार्यदायी संस्था बेहतर समन्वय से पूरा करें।

मण्डलायुक्त ने यह भी कहा कि विभाग के अधिकारी विभागीय रिपोर्ट भेजते समय स्वयं देखकर ही भेजे। पशुपालन तथा चिकित्सा विभाग के प्रेषित आकड़े में विरोधाभाष पाया गया इस पर मण्डलायुक्त ने भविष्य में प्रत्येक दशा में रिपोर्ट के प्रेषण में सुधार करें। मण्डलायुक्त द्वारा किसानों के कार्यो को देखते हुये नहरों में टेल तक पानी पहुंचाने तथा शत प्रतिशत हरी फसल की बुवाई हेतु सिंचाई एवं कृषि विभाग के अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही करने को कहा। विद्युत बकाये की वसूली में तेजी लाने तथा प्राथमिक स्कूलों के विद्युत बिलों का भुगतान भी प्राथमिकता से कराने के निर्देश दिये गये। बड़े एवं छोटे कार्य जो अंतिम चरण में है उसको प्राथमिकता से पूरा कराने के निर्देश दिये गये है। मण्डल में 13 पुल बनने है इसमें से 5 पुल जल्द से जल्द पूरा करने को कहा गया है। मण्डलायुक्त द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की भी समीक्षा की गयी। पशुपालन विभाग द्वारा गौआश्रय स्थलों में लगभग 31607 पशु रखे गये है उनको नियमित चारा आदि की व्यवस्था करने तथा संबंधित गौशाला केन्द्रों पर पशु चिकित्सक को भ्रमण करने तथा वहां पर एक रजिस्टर रखने का निर्देश दिया गया है जिससे कि कोई अधिकारी जाये तो पशुओं का विवरण लिखे एवं सम्बंधित गौशाला केन्द्र के बारे में निरीक्षण, टिप्पणी अंकित करें। मण्डलायुक्त ने सभी पशुओं को टीका लगाने तथा ईयर टैगिंग कराने के निर्देश दिये गये। अभी तक मण्डल में लगभग गौवंश के 12.19 लाख तथा महीसी वर्ग 14.31 लाख ईयर टैगिंग किया गया, गौवंश के ईयर टैगिंग की धीमी प्रगति को तेज करने का निर्देश दिया गया।

 

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण की समीक्षा में मण्डलायुक्त ने गोल्डेन कार्ड, आयुष्मान कार्ड आदि बनाने में तेजी लाने का निर्देश दिया तथा कहा कि हमारे मण्डल में अभी तक 45 लाख के सापेक्ष मात्र 11 लाख कार्ड बनाये गये है जो काफी कम है। इस कार्य में भी तेजी लायी जाय। मण्डल में लगभग 4530 सामुदायिक शौचालय बनाये जाने है जिसमें से 4146 पूरे हो गये है तथा शेष को पूरा कराने का निर्देश दिया गया है। मण्डल में 4553 ग्राम पंचायतें है ग्राम पंचायतों के नये प्रधान का निर्वाचित हो गयी है सभी कार्य भार ग्रहण कर लिये है सचिव को निर्देश दिया जाय कि ग्राम पंचायत स्तर पर संचालित कार्यक्रमों के भुगतान की कार्यवाहियां एवं मनरेगा के माध्यम से कायाकल्प से सम्बंधित लम्बित कार्यो में तेजी लायी जाय। अभी तक मण्डल में 1 लाख 70 हजार मनरेगा के अन्तर्गत श्रमिक लगाये जा रहे है इसमें और तेजी लाने के निर्देश दिये गये है। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना अन्तर्गत कुल 18 सड़के ही जिसमें से मात्र 6 आरम्भ हुई है शेष को यथाशीघ्र आरम्भ करने के निर्देश दिये गये है। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना, ग्रामीण एवं शहरी तथा मुख्यमंत्री आवास योजना में चयनित लाभार्थियों के खातों में शीघ्रता के साथ बकाया किश्त भेजने के निर्देश दिये गये है। मण्डलायुक्त ने स्वरोजगार से संचालित कार्य करने को बढ़ावा देने, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के लक्ष्यों को पूरा करने के निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी अयोध्या श्री अनुज कुमार झा द्वारा पेयजल योजनाओं को समय से पूरा करने, गोल्डेन कार्ड बनाने की कार्यवाही तथा आयुष्मान मित्रों की सेवाओं को सक्रिय करने के लिए बात रखी गयी जिस पर मण्डलायुक्त ने कहा कि पेयजल योजनाएं जो संचालित होनी है उसे यथाशीघ्र पूरा करने, आयुष्मान मित्र जो कार्य नही कर रहे है उनके खिलाफ कार्यवाही किया जाए। मण्डलायुक्त ने कहा कि उद्यानिक मिशन एवं बागवानी को बढ़ावा देने तथा क्षेत्र में केला की खेती को प्रोत्साहित करने की आवश्यकता है जैसा कि मण्डल के बाराबंकी एवं बहराइच जनपद में है। वैसे ही अन्य जनपदों को प्रोत्साहित किया जाए।

मण्डलायुक्त द्वारा अभ्युदय, कन्या सुमंगला योजना की भी समीक्षा की गयी। मण्डलायुक्त ने कहा कि मण्डल के गन्ना किसानों को शत प्रतिशत भुगतान करने की कार्यवाही इस माह तक पूरा किया जाय। शिक्षा विभाग के कार्यो की समीक्षा में मण्डलायुक्त ने कहा कि विद्यालयों को कोविड प्रोटोकाल के साथ खोलते हुये शिक्षा पर ध्यान दिया जाय तथा प्रेरणा ऐप पर शिक्षकों द्वारा अवकाश के आवेदन पत्रों को लम्बे समय तक निस्तारित न किया जाना गम्भीर विषय है। प्रेरणा ऐप पर शिक्षकों के आवेदन पत्रों को ससमय निस्तारित किया जाय। इस बैठक में जिलाधिकारी अयोध्या  अनुज कुमार झा के अतिरिक्त जिलाधिकारी बाराबंकी डा0 आदर्श सिंह, जिलाधिकारी सुल्तानपुर  रवीश गुप्ता, जिलाधिकारी अमेठी  अरूण कुमार, जिलाधिकारी अम्बेडकरनगर  सैमुअल पाल सहित मुख्य विकास अधिकारी अयोध्या श्रीमती अनीता यादव, मुख्य विकास अधिकारी बाराबंकी एकता सिंह, मुख्य विकास अधिकारी अमेठी डा0 अंकुर लाढर, मुख्य विकास अधिकारी अम्बेडकरनगर घनश्याम मीणा, मुख्य विकास अधिकारी सुल्तानपुर अतुल वत्स के अलावा मण्डलीय मुख्य अभियन्ता, अधीक्षण अभियन्ता, अपर निदेशक, संयुक्त निदेशक, उपनिदेशकगण, सहायक निदेशक एवं मण्डलीय अधिकारी/प्रतिनिधि उपस्थित थे।
बैठक में संक्षिप्त विवरण संयुक्त विकास आयुक्त वेद प्रकाश मौर्य द्वारा प्रस्तुत किया गया तथा इस बैठक में उपनिदेशक संख्या श्रीमती मंजू अशोक, उपनिदेशक सूचना डा0 मुरली धर सिंह व अन्य प्रशासनिक अधिकारीगण उपस्थित थे।
—————————————————–
अयोध्या । एक अन्य बैठक में मण्डलायुक्त  एम0पी0 अग्रवाल एवं पुलिस महानिरीक्षक डा0 संजीव गुप्ता के साथ मण्डल के जिलाधिकारी, एस0एस0पी0/एस0पी0 के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा की गयी। मण्डलायुक्त ने कहा कि आगामी दिनों में श्रावण मेला, कांवड मेला/यात्रा शुरू होने वाला है। साथ ही साथ कोविड 19 प्रोटोकाल एवं इसकी तीसरी लहर को देखते हुये शासन की नवीनतम निर्देशों के साथ सभी आवश्यक तैयारियां की जाय तथा प्रत्येक स्तर पर इसकी समीक्षा भी की जाय तथा क्षेत्राधिकारी, अधिकारी अपने अपने क्षेत्रों में सक्रिय रहे।