अवध विश्वविद्यालय : अन्तरविभागीय खेलकूद प्रतियोगिता का उद्घाटन कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने किया

खिलाड़ियों को खेल की भावना से खेलना चाहिएः कुलपति प्रोरविशंकर सिंह

अयोध्या।डॉ० राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के आवासीय क्रीड़ा विभाग व एक्टिविटीज क्लब के संयुक्त संयोजन में अन्तरविभागीय खेल-कूद प्रतियोगिता का शुभारम्भ पद्मश्री अरूणिमा सिन्हा स्टूडेंट एमिनिटी सेंटर में 17 नवम्बर, 2021 दिन बुधवार को दोपहर 1 बजे किया गया। प्रतियोगिता का उद्घाटन करते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने कहा कि खेल में खिलाड़ियों को खेल की भावना से प्रतिभाग करना चाहिए। खेलों में हार-जीत लगी रहती है प्रतिस्पर्धा स्वस्थ्य होनी चाहिए। कुलपति प्रो0 सिंह ने सभी छात्रों को खेलों में सहभागिता अवश्य दर्ज करानी चाहिए। इससे व्यक्तित्व विकास के साथ-साथ मानसिक विकास में वृद्धि होती है और जीवन सार्थक बनता है। उद्बोधन के उपरांत कुलपति ने सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएं दी।

       कार्यक्रम में क्रीड़ा परिषद के उपाध्यक्ष प्रो0 जसवंत सिंह ने खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि विश्वविद्यालय का क्रीड़ा विभाग खेल गतिविधियों को सुचारू से संचालित कर रहा है। विद्यार्थियों द्वारा अच्छा प्रदर्शन भी किया जा रहा है। कुलपति प्रो0 सिंह द्वारा खेल में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों की प्रोत्साहन धनराशि में वृद्धि की है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया है कि प्रतिभागी विभिन्न प्रतियोगिताओं में बढ़चढ़ कर हिस्सा लेंगे। कार्यक्रम में अधिष्ठाता छात्र-कल्याण प्रो0 नीलम पाठक ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि खेल हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है। विश्वविद्यालय में शैक्षिक गतिविधियों के साथ खेल को बराबर महत्व दिया जा रहा है। प्रतिभागी शिक्षा ग्रहण करने के साथ-साथ खेल को अपनी दिनचर्या में शामिल करें। कार्यक्रम में क्रीड़ा प्रभारी आवासीय परिसर डाॅ0 मुकेश वर्मा ने बताया कि अन्तरविभागीय खेल-कूद प्रतियोगिता 09 जनवरी तक कुल 22 दिन चलेगी। जिसमें 09 प्रतियोगिताएं कुलपति ब्रिगेड एवं कुलसचिव ब्रिगेड के मध्य होगी। छात्र-छात्राओं के बीच कुल 21 खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जायेगा।

      प्रतियोगिता का शुभारम्भ माॅ सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। अतिथियों का स्वागत बैज लगाकर एवं स्मृति चिन्ह भेटकर किया गया। कार्यक्रम के दौरान अन्तरमहाविद्यालयीय बैडमिंटन प्रतियोगिता की महिला विजेता एवं पुरूष उपविजेता को कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह द्वारा स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय की शिक्षिका डाॅ0 प्रतिभा त्रिपाठी की लिखित पुस्तक शिक्षा और मनोविज्ञान का विमोचन किया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ0 अर्जुन सिंह ने किया। धन्यवाद ज्ञापन डाॅ0 मुकेश कुमार वर्मा ने किया। इस अवसर पर कुलसचिव उमानाथ, प्रो0 एसएस मिश्र, प्रो0 आरके सिंह, प्रो0 फारूख जमाल, प्रो0 अनूप कुमार, प्रो0 तुहिना वर्मा, प्रो0 शैलेन्द्र कुमार, डॉ0 प्रदीप खरे, उपकुलसचिव विनय कुमार सिंह, सहायक कुलसचिव डॉ0 रीमा श्रीवास्तव एवं मो० सहिल, ओएसडी डॉ शैलेन्द्र सिंह, डॉ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी, डॉ0 अनिल कुमार मिश्र, डॉ0 कपिल कुमार राणा, डॉ त्रिलोकी यादव, डॉ0 अनुराग पांडे, डॉ0 मणिकांत त्रिपाठी, डॉ0 मनोज वर्मा, डॉ0 दिनेश कुमार सिंह, डॉ0 प्रभात सिंह, डॉ0 शैलेन वर्मा, शिवांश, अंकित मिश्रा, इंजीनियर जैनेन्द्र प्रताप, इंजीनियर शाम्भवी शुक्ला, इंजीनियर अनुराग सिंह, मोहनी पांडे, स्वाती उपाध्याय, देवेंद्र कुमार वर्मा, इंजीनियर आरके सिंह, कुमार मंगलम सिंह, आलोक तिवारी, अनुराग सोनी, कर्मचारी संघ अध्यक्ष डॉ0 राजेश कुमार सिंह, डॉ0 वीरेंद्र वर्मा, अनूप सिंह, मनोज सिंह, के के मिश्रा, अरुण सिंह, मयंक श्रीवास्तव, संतोष मौर्या, गणेश, डॉ0 मोहन तिवारी, संतोष कुमार कौशल, जफर सलमान, हरिकेश सिंह, पंकज मौर्य, आनंद कुमार, कौशल किशोर, संजय चैरसिया, रवीन्द्र पटेल, अनुराग श्रीवास्तव, दिव्य नारायण, शिव कुमार, राम स्वारथ वर्मा, श्याम नारायण सिंह, अमित वर्मा आंनद मौर्य, राणा आशुतोष सिंह,कन्हैया मिश्रा, ज्ञान प्रकाश तिवारी सहित बड़ी संख्या में खेल प्रेमी उपस्थित रहे।