3504 जोड़े विवाह बंधन में बंधेंगे, आशीर्वाद देंने 26 को आ रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

* जिसमें 126 मुस्लिम जोड़े भी शामिल है

अयोध्या । 26 नवंबर को अयोध्या का जीआईसी मैदान ऐतिहासिक सामूहिक विवाह का गवाह बनने जा रहा है और इस पल के साक्षी होंगे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।जीआईसी के मैदान में अयोध्या मंडल के 3504 जोड़े विवाह बंधन में बंधेंगे और आशीर्वाद देने के लिए स्वयं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद होंगे।

श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य

श्रम विभाग अपने श्रमिमो की पुत्रियों का सामूहिक विवाह करने जा रहा है।इस दौरान श्रम एवं सेवायोजन मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने मुख्यमंत्री के आगमन के पहले अयोध्या पहुंचकर सामूहिक विवाह की तैयारियों का जायजा लिया और एक पत्रकार वार्ता कर सामूहिक विवाह की जानकारी दी। वही मंडल में आयोजित सामूहिक विवाह 26 नवंबर को जीआईसी के मैदान में होगा इस ऐतिहासिक क्षण में साक्षी बनने जा रहे हैं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। श्रम विभाग के अनुसार अब तक 3504 जोड़ों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया है जिसमें 126 मुस्लिम जोड़े भी शामिल है।अयोध्या जनपद से 1472, बाराबंकी से 304,सुल्तानपुर से 806, अंबेडकरनगर से 315 व अमेठी से 611 जोड़ों ने अभी तक विभाग में अपना पंजीकरण करवाया है। 26 नवंबर को जीआईसी के मैदान में इस ऐतिहासिक कार्यक्रम में मंडल के अयोध्या सुल्तानपुर अमेठी बाराबंकी और अंबेडकरनगर की श्रमिको की बेटियां सात जन्मों के बंधन में बंध जाएंगी।लखनऊ में हुए सामूहिक विवाह के दौरान 3500 जोड़ों की शादियां हुई थी उसके बाद सीएम ने आदेश दिया था कि अयोध्या में भी ऐसी शादी होनी चाहिए जिसमें संख्या 3500 से अधिक होनी चाहिए।श्रम विभाग और जिला प्रशासन तैयारियों में जुट गया है। 26 नवंबर को अयोध्या धाम पहुंचकर सीएम योगी रामलला व हनुमानगढ़ी का दर्शन पूजन भी करेंगे इसके बाद वे अयोध्या में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा बैठक भी करेंगे।

बताते चलें अयोध्या धाम में राम मंदिर के मार्ग का निर्माण भी शुरू हो चुका है वहीं अब नव्य अयोध्या के कार्य की भी शुरुआत हो चुकी है।माना जा रहा है कि इन कार्यों का सीएम योगी स्थलीय निरीक्षण भी कर सकते है।