अयोध्या के आनंद में डूबे देश भर के 80 महापौर

महापौर दल का स्वागत  अयोध्या नगर निगम के महापौर  ऋषिकेश उपाध्याय ने रामलला का चित्र व रामनामी भेंट कर किया

अयोध्या । श्रीधाम अयोध्या प्रभु श्री राम की जन्म स्थली दुनिया का सबसे बड़ा तीर्थ स्थल होगा जहां पर दुनिया के अन्य धार्मिक स्थलों से कई गुना लोग अपनी धार्मिक आस्था के साथ श्रीधाम अयोध्या पधार कर प्रभु श्री राम का भव्य मंदिर निर्माण उपरांत दर्शन कर सकेंगे। उक्त विचार श्रीधाम अयोध्या आध्यात्मिक यात्रा में आये महापौर दल ने व्यक्त किया।

देवकाली बाईपास स्थित होटल पंचशील में आगंतुक महापौर दल का स्वागत करते हुए अयोध्या नगर निगम के लोकप्रिय महापौर  ऋषिकेश उपाध्याय व्यक्त कर रहे थे। श्री उपाध्याय ने कहा कि भारत के 100 करोड़ हिंदू उस दिन का इंतजार कर रहे हैं कि जल्दी से जल्दी प्रभु श्री राम का मंदिर बने और हम अयोध्या जाकर प्रभु श्री राम लला का दर्शन कर सकें भारत ही नहीं दुनिया के किसी देश में जहां पर हिंदू वास कर रहे हैं आज हर हिंदू के हृदय में प्रभु राम के दर्शन की लालसा हिलोरे ले रही है।

निश्चित रूप से आप सभी के आगमन से पूर्व में देश के 12 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के आगमन से संपूर्ण भारत में ही नहीं विश्व में अयोध्या के संपूर्ण विकास और राम मंदिर निर्माण को लेकर जन भावनाएं उत्तरोत्तर प्रस्फुटित हो रही हैं माननीय महापौर ओं के आगमन के समय प्रत्येक माननीय महापौर तो अयोध्या की संस्कृति के मुताबिक  ऋषिकेश उपाध्याय  ने रामनामी और भगवान राम मंदिर के मॉडल को प्रतीक चिन्ह के रूप में सभी को भेंट करते हुए अपने आत्मीय भाव से सभी का स्वागत किया तत्पश्चात सभी माननीय महापौर ओने भोजन प्रसाद ग्रहण किया इसके बाद रामलला के दर्शन कर दर्शन के उपरांत हनुमानगढ़ी जाकर हनुमान जी का दर्शन सरयू जलाभिषेक कर मां सरयू का दर्शन किया।

स्वागत समारोह के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष श्री अवधेश कुमार पांडे बादल, शशि भूषण राय ,अपर नगर आयुक्त नगर निगम अयोध्या  सच्चिदानंद सिंह अपर नगर आयुक्त नगर निगम अयोध्या माननीय महापौर जी का सहयोग कर रहे थे ।आगंतुक  महापौर दल ने अपने अंतर्निहित भावों को व्यक्त करते हुए कहा श्रीधाम अयोध्या में आगमन का अवसर और बार-बार आने की इच्छा प्रभु राम की कृपा से ही संभव हो पा रहा है। हम कृतज्ञ हैं अयोध्या वासियों के यहां के आतिथ्य सत्कार की जो परंपरा है वह निश्चित रूप से किसी भी व्यक्ति को आध्यात्मिकता से ओतप्रोत कर देती है। अयोध्या के विकास में आज पूरे भारत को अपने अपने स्तर से जो भी संभव हो सहयोग करना चाहिए जिस से आने वाले पर्यटकों को किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न ना हो और वह अयोध्या आकर आध्यात्मिकता से ओतप्रोत होते हुए प्रभु राम के आदर्शो पर चलकर समाज के राष्ट्र के निर्माण में अपना योगदान सुनिश्चित करें ऐसी प्रभु श्री राम की परिकल्पना को साकार करना हम सब नागरिकों का कर्तव्य है । माननीय महापौर आगंतुक जनों का स्वागत श्री राम लाला के दरबार में पूज्य पुजारियों हनुमानगढ़ी में पूज्य संतों और सरयू तट पर पूज्य संतों ने गरिमामय ढंग से उनका आदर सत्कार करते हुए आशीर्वाद प्रदान किया कि प्रभु राम की कृपा आप सभी पर आपके परिवार पर आपके शहर और राज्य में प्रभु की कृपा बनी रहे। जिससे नागरिक उत्तरोत्तर अपने जीवन में विकास करें सभी माननीय महापौर को पूरे आदर सम्मान के साथ पूजा करते हुए सभी मुख्यमंत्री श्री राम की धरती आकर राम के दर्शन करने के लिए बारंबार आवाहन किया गया ।