अयोध्याराज्यलाइफस्टाइलशिक्षासमाचार

स्वावलंबी भारत अभियान की कार्यशाला में लिया गया युवाओं को रोजगार देने का संकल्प

* दस संगठनों के समन्वय से सफल बनेगा अभियान,जिला कार्यकारिणी की भी हुई घोषणा

* रोजगार सृजन केंद्र की स्थापना में विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों का भी लिया जाएगा सहयोग

अयोध्या।स्वदेशी जागरण मंच द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर चल रहे स्वावलंबी भारत अभियान की जिले में एक दिवसीय कार्यशाला साकेत निलयम में संपन्न हुई।
कार्यक्रम का शुभारंभ स्वदेशी जागरण मंच के क्षेत्रीय संगठन मंत्री अजय, लघु उद्योग भारती की प्रांत अध्यक्ष रीता मित्तल, सेवा भारती के प्रांत मंत्री रजनीश एवं स्वदेशी जागरण मंच के दीपक शुक्ला द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया।
कार्यशाला दो सत्रों में हुई। प्रथम सत्र में मुख्य वक्ता के रूप में स्वदेशी जागरण मंच के क्षेत्रीय संगठन मंत्री अजय ने कार्यशाला में आए हुए समस्त कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि यह अभियान स्वरोजगार, नए लघु उद्यम, स्टार्टअप्स, सहकारिता आधारित उद्योगों को प्रोत्साहन व सहयोग भी करेगा। अभियान प्रत्येक जिले के स्थानीय संसाधनों, युवा शक्ति, सरकार की योजनाओं, शिक्षा तकनीकी एवं औद्योगिक केंद्रों का आपस में समन्वय कर रोजगार सृजन में उत्प्रेरक का कार्य करेगा तथा जिले में ग्राम स्तर पर ग्राम उद्योग व ग्राम शिल्प को बढ़ावा मिलेगा तथा युवाओं का शहरों की ओर पलायन भी रुकेगा।
द्वितीय सत्र में जिले की कार्यकारिणी की घोषणा की गई। जिसमें ई. रवि तिवारी को स्वावलंबी भारत अभियान का जिला समन्वयक, राधेश्याम त्यागी को सह समन्वयक, कलावती मिश्रा को महिला समन्वयक, नवीन आजाद दुबे को जिला मीडिया संपर्क प्रमुख, सुशील मिश्रा को सोशल मीडिया संयोजक व संबंधित अन्य दायित्वों की घोषणा की गई।
जिला मीडिया संपर्क प्रमुख नवीन आजाद दुबे ने बताया कि भगवान श्री राम की नगरी अयोध्या धाम से ‘स्वावलंबी भारत अभियान’ को अखिल भारतीय स्तर के उच्चतम शिखर पर पहुंचाने हेतु हम सभी कार्यकर्ता संकल्प बद्ध हैं। इस अभियान को पूरे जिले में स्वदेशी जागरण मंच, विश्व हिंदू परिषद, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद, लघु उद्योग भारती, भारतीय मजदूर संघ, सहकार भारती, राष्ट्रीय सेवा भारती, भारतीय किसान संघ, भारतीय जनता पार्टी, वनवासी कल्याण आश्रम, ग्राम पंचायत ऐसे 10 संगठनों के सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ ब्लाक स्तरीय कार्यकारणी का गठन करके अभियान को सफल बनाया जाएगा तथा जिले में एक ‘रोजगार सृजन केंद्र’ की स्थापना होगी। जो प्रमुख विश्वविद्यालय अथवा महाविद्यालय के सहयोग से होगा। यह केंद्र सब प्रकार से युवाओं को रोजगार युक्त करने की योजनाओं का केंद्र होगा। उनके आधारभूत विषय स्पष्ट करने, सरकारी योजनाओं की जानकारी, उद्यमिता प्रशिक्षण, कौशल विकास से जोड़ने की प्रक्रिया यहां से होगी। इसके अतिरिक्त बैंक लोन, स्वरोजगार की संभावित कठिनाइयों का समाधान, सफल स्वरोजगारियों, उद्यमियों से संवाद आदि का भी कार्य इस केंद्र से होगा।
इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के महानगर संघचालक प्रोफेसर विक्रमा प्रसाद पांडे, प्रांत के स्वदेशी जागरण मंच विचार विभाग प्रमुख रवि तिवारी, प्रोफेसर सीताराम मिश्रा, राजू श्रीवास्तव, भारतीय मजदूर संघ के जिला अध्यक्ष सत्य प्रकाश श्रीवास्तव, डॉक्टर प्रेमचंद पांडे, प्रवीण सिंह, पुष्कर तिवारी, विवेक शुक्ला, डॉ उपेंद्र तिवारी आदि लोग उपस्थित रहे। कार्यशाला का संचालन विजेंद्र दुबे द्वारा किया गया।

Related Articles

Back to top button