राम की पैड़ी में स्नान करते समय गहरे पानी मे चले जाने पर दो युवको की डूबकर मौत

अयोध्या l राम की पैड़ी में मंगलवार की शाम स्नान करते समय गहरे पानी मे चले जाने पर दो युवक डूब गए lजल पुलिस ने दोनों युवकों को काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला। फिर भी दोनों युवकों की इलाज के दौरान श्री राम अस्पताल में मौत हो गई l पैैैड़ी की नहर में घटना केे समय जलस्तर बहुत अधिक था जिसको लेकर लोगो में बहुुुत नाराजगी दिखी l

मृतकों में एक युवक की पहचान वरिष्ट सपा नेता लड्डू लाल यादव के भतीजे अमन के रूप में हुई l युवक की मौत से शोक की लहर है l राम की पैड़ी में मंगलवार की शाम स्नान करते समय गहरे पानी मे चले जाने पर दो युवक डूब गए। जल पुलिस ने दोनों युवकों को काफी मसक्कत के बाद बाहर निकाला। फिर भी दोनों युवकों की इलाज के दौरान श्री राम अस्पताल में मौत हो गई। मिली जानकारी के मुताबिक एक युवक धरमु का पुरवा मांझा बरहटा निवासी वरिष्ट सपा नेता लड्डू लाल यादव का भतीजा अमन यादव 21 वर्ष पुत्र ओम प्रकाश यादव निवासी धरमू का पुरवा मांझा बरहटा का वासी था। जबकि दूसरा राजन  23 वर्ष पुत्र द्वारका प्रसाद निवासी हनुमानकुण्ड अयोध्या का निवासी था।

इस घटना की जानकारी होने पर अयोध्या कोतवाल सुरेश पांडेय व सीओ अमर सिंह घटना स्थल पहुंचे फिर ये श्री राम अस्पताल में जाकर गहन जांच पड़ताल किया व घटना की वास्तविक जानकारी ली। इस घटना की सूचना परिजनों को जब मिली तो वे घटना स्थल व अस्पताल पहुंचे। यहां पर परिजनों का रो रो कर बुला हाल रहा। जिसने भी यह घटना सुनी सब स्तब्ध रह गए l दोनो की अभी इनकी शादी भी नही हुई थी।

मौके पर मांझा बरहटा के प्रधान राम चन्द्र यादव, लक्ष्मण यादव, राम देव पहलवान, राजा राम पैलेस के मैनेजर राजेश यादव, सूर्या पैलेस के प्रबंधक प्रभात यादव, पूर्व प्रधान नँगा यादव, पवन यादव, रमेश यादव, सहित अन्य शुभ चितंक श्री राम अस्पताल पहुंचे व शोक संवेदना प्रकट किए। वही मृतक युवक अमन यादव के घर धरमु का पुरवा गांव पहुंचकर अन्य शुभ चिंतको व नेताओ ने भी गहरी शोक संवेदना जताए।

वेबसाइट पर प्रकाशित सभी लेख अयोध्या बोलती है़ के लेखकों के द्वारा लिखे गए है जिनका सर्वाधिकार वेबसाइट की प्रबंध समिति के पास सुरक्षित है बिना लिखित अनुमति के वेबसाइट पर मौजूद लेख, फोटो या अन्य सामग्रियों को किसी भी स्वरुप में (प्रिंटिंग या सोशल मीडिया )प्रकाशित , प्रसारित या वितरित करना गैर कानूनी है , प्रतिलिप्यधिकार अधिनियम 1957 तहत ऐसा करना दंडनीय है !




error: Content is protected !!