1100 कन्याओं का पूजन: अयोध्या महोत्सव बना आध्यात्मिक उर्जा का केन्द्र

दंगल में पहलवानों खूब जोर आजमाईश की, उनके दांव पेच ने दर्शकों को खूब पसंद आए

अयोध्या। वेदमंत्रों के बीच सुख, सम्पदा व ऐश्वर्य की प्रदाता मां आदिशक्ति स्वरुपा 1100 कन्याओं का पूजन के दौरान अयोध्या महोत्सव का परिवेश आध्यात्मिक उर्जा का केन्द्र बन गया। वहीं विख्यात पहलवानों की मौजूदगी आयोजित विराट दंगल में कुश्ती के दांवपेच ने दर्शकों की खूब वाहवाही लूटी। अयोध्या के सांस्कृतिक महोत्सव से परिचय कराते अयोध्या महोत्सव में आगंतुकों की भारी भीड़ उमड़ी।

 


दीप प्रज्जवल के माध्यम से 1100 कन्याओं के पूजन का आयोजन करने के उपरान्त मुख्य अतिथि प्रांत प्रचारक कौशल ने कहा कि अयोध्या की लोकसंस्कृति, परम्परा व मर्यादा भारतीय जीवनशैली का आधार है। अपने जीवन में इसको आत्मसात करने से परिवार, समाज आध्यात्मिक, मानसिक व आर्थिक विकास के पथ पर अग्रसर होता है। इसी लोकसंस्कृति को प्रसारित करने की मुहिम अयोध्या महोत्सव ने प्रारम्भ की है। इस मुहिम को व्यापक जनसमर्थन भी मिल रहा है। स्वागत भाषण करते हुए अयोध्या महोत्सव न्यास अध्यक्ष हरीश श्रीवास्तव ने कहा कि स्त्री को सृजन की शक्ति माना जाता है। इस सृजन की शक्ति को विकसित करके उनमें समाजिक, आर्थिक, राजनैतिक व वैचारिक स्वतंत्रता के साथ समानता का अवसर प्रदान करना नारी सशक्तिकरण का आशय है। केन्द्र व प्रदेश सरकार इसी परिकल्पना पर कार्य कर रही है। अयोध्या महोत्सव प्रतिभाओं को मंच प्रदान करने के साथ अयोध्या की मर्यादा की आध्यात्मिक रश्मि से समाज को प्रकाशित करने की मुहिम लगातार जारी रखेगा। कन्या पूजन के दौरान प्रमुख रुप से महानगर प्रचारक अनिल जी, डा विक्रमा पाण्डेय, प्रो आरके सिंह, डा राजेश तिवारी, आदर्श शुक्ला, एसएन सिंह, मनमीत गुप्ता, मनीष गुप्ता, दीप सहाय, अभिषेक निगम, अंजनी ओझा, वीके मुकेश, सरल ज्ञाप्टे, आचार्य दुर्गा प्रसाद, शैलेन्द्र यादव ने पूजन किया। इस अवसर पर अरुण द्विवेदी, नाहिद कैफ, श्रद्धा तिवारी, पूजा अरोड़ा, ऋचा उपाध्याय, चन्द्रशेखर तिवारी मौजूद रहे।
वहीं अयोध्या महोत्सव के प्रांगण में विराट दंगल का भी आयोजन किया गया। दंगल में पहलवानों खूब जोर आजमाईश की। पहलवानों के दांव पेच दर्शकों को पसंद आये ,लोगों ने इस दौरान जमकर तालियां बजाई। पहलवानों में मुख्य रुप से देवा थापा पहेलवान नेपाल, मो परवेश सहारनपुर, मोंटी दिल्ली, मुल्क टाइगर हरिया, सुरेन्द्र कन्नौज से शामिल रहे।